Hindi

SwearBy

हमारे भोजन में शामिल करने के लिए खाए जाने वाले पौष्टिक फूल 

favebook twitter whatsapp linkedin telegram

graph 314 Views

Updated On: 05 Oct 2023

हमारे भोजन में शामिल करने के लिए खाए जाने वाले पौष्टिक फूल 

हमारे स्वास्थ्य को बेहतर बनाए रखने के कई तरीके होते हैं और साथ ही हमारे डाइट को और बेहतर बनाने के भी कई रास्ते होते हैं जो हमारे पेट के स्वास्थ्य की स्थिति में काफी सुधार कर सकते है। यह शारीरिक व्यायाम, योगा, प्रोसेस्ड और वसायुक्त खाद्य पदार्थों के सेवन को सीमित करने, संतुलित आहार, मेडिटेशन, बॉडी डिटॉक्सिफिकेशन और अन्य कई तरीकों के माध्यम से भी हो सकता है। इन सभी के अलावा कुछ फूलों को हमारे भोजन में शामिल करना, हमारी सेहत और पेट के स्वास्थ्य को पोषित करने का एक शानदार तरीका हो सकता है। पर रुकिए!- ये सिर्फ कोई फूल ही नहीं हैं। ये खाए जाने वाले पौष्टिक फूल हैं। जी हाँ, आपने इसे सही पढ़ा है।

खाए जाने वाले फूल एंटीऑक्सिडेंट, बायोएक्टिव घटकों और विटामिन से भरपूर होते हैं, जो पाचन को बढ़ावा देने, एंग्जायटी को कम करने, तनाव या स्ट्रेस से राहत देने, डायबिटीज को नियंत्रित करने, कोलेस्ट्रॉल कम करने और कई अन्य आंत संबंधी स्वास्थ्य लाभों में काफी मदद करते हैं। इन खाने योग्य फूलों को विभिन्न स्वास्थ्य संबंधी परिस्थितियों के लिए एक अद्भुत कारगर उपाय माना जाता है। यदि आप अपने आहार विकल्पों को और भी बेहतर बनाने के तरीकों की तलाश में हैं, तो अब समय आ गया है कि आप इन खाने वाले फूलों को अपनी सूची में अवश्य शामिल करें। इन्हें पेय पदार्थों, सलाद, डेसर्ट, सॉस और स्नैक्स के रूप में अपने भोजन में शामिल कर सकते हैं, और यहाँ तक कि इन्हें आप अपने भोजन को कम्प्लीट करने के लिए गार्निश के रूप में भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इन बातों को ध्यान में रखते हुए, यहाँ कुछ सर्वाधिक पौष्टिक खाद्य फूलों की एक सूची दी गई हैं जिन्हें आप अधिकतम लाभ प्राप्त करने के लिए अपने भोजन में शामिल कर सकते हैं।

हमारे डाइट में शामिल किए जाने वाले दस खाने योग्य फूल

हिबिस्कस या जवाकुसुम

गुलाब

लैवेंडर

मेरीगोल्ड या गेंदे का फूल

केले के फूल

कद्दू के फूल

चमेली

कैमोमाइल

मोरिंगा

पपीते के फूल

हिबिस्कस 

Hibiscus or Javakusum

यह वह फूल है जो तृप्ति को बढ़ावा देकर भूख के स्तर को कम करने में मदद करता है। शोधकर्ताओं ने पाया है कि इस फूल के इस्तेमाल से 56.4% भूख कम होती है और वजन भी 5.4% कम होता है। इस फूल की पत्तियाँ भी दोगुना वजन कम करने में मदद करती हैं। इस फूल की ताज़ा सुगंध चाय के रूप में भी काम करती हैं। जब हम थोड़ी गर्म चीज़ों के साथ कोई सप्लीमेंट लेते हैं तब यह निश्चित रूप से तेजी से वजन कम करता है। प्रीक्लिनिकल शोध से यह पता चलता है कि इस फूल का अर्क फैट सेल्स या वसा कोशिकाओं में ट्राइग्लिसराइड संचय को कम करता है। यह ट्राइग्लिसराइड तेल, मक्खन और सभी वसायुक्त पदार्थों में पाया जाता है जो वसा के अलावा शरीर को कोई ऊर्जा नहीं देते।

गुलाब

Rose

फूलों में उपचार का राजा कोई और नहीं बल्कि गुलाब है। बहुत से लोगों का यह मानना हैं कि इस फूल का इस्तेमाल केवल रंग जोड़ने और खाद्य पदार्थों को सजाने के लिए किया जाता है। इसमें फेनोलिक्स होता है जिसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं और यह विटामिन का एक समृद्ध स्रोत होता है जो हमारे डाइट को एनहांस करने में मदद करते हैं। जब हम इसे गार्निशिंग एलिमेंट के रूप में ऐड करते हैं तब यह एक रीच अरोमा देता है। और इसमें मौजूद विटामिन की मदद से वजन कम करने के कई मौके भी मिलते हैं। अधिकतर लोग इसे अपने आहार में चाय के रूप में लेते हैं। उस चाय में हम इसके साथ दालचीनी और लौंग भी डाल सकते हैं। यदि हमें उसमें मिठास चाहिए तब थोड़ी मात्रा में शहद मिलाने से मिठास बराबर हो जाएगी।

लैवेंडर

lavender

लैवेंडर फूल अपनी सुगन्ध और वार्म रंगों से हर किसी का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करते हैं। यह एक ऐसा फूल है जो छोटे-छोटे फूलों के समूह में होता है जिसे हाथ में लेने पर गुच्छों जैसा दिखता है। इसका इस्तेमाल सिर्फ परफ्यूम तैयार करने के लिए ही नहीं किया जाता है। इसमें पौष्टिक स्तर बहुत अधिक होता है जो एक प्रॉपर डाइट बनाए रखने में मदद करता है और हमारे भोजन में सुंदरता भी जोड़ता है। इस फूल को हम 0% कार्बोहाइड्रेट स्तर वाला ज़ीरो-कैलोरी वाला फूल मान सकते हैं। लैवेंडर की सबसे खास बात यह है कि इसका सेवन इसके तेल के अर्क को सूंघकर किया जाता है जिससे तनाव का स्तर कम होता है और अच्छी नींद भी आती है। अधिकांश लोग फास्ट फूड की क्रेविंग को कम करने के लिए लैवेंडर चाय और तेल का सेवन करना पसंद करते हैं।

मेरीगोल्ड या गेंदे का फूल

Marigold

पीले परिवार के फूल विटामिन सी प्रदान करके एक्ने प्रोन त्वचा और डल या सुस्त त्वचा वाले चेहरों पर चमक लाते हैं। इस फूल में उचित पाचन क्रिया करने के लिए एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी होते हैं। इस फूल को ज़ीरो-लेवल कार्ब वाला फूल भी माना जाता है जो आपके डाइट प्लान को बर्बाद नहीं करता है। यह फूल पीरियड्स की ऐंठन, पेट के अल्सर और मतली से भी राहत दिलाने में मदद करते हैं। अपने भोजन में अधिक गेंदे के फूल को शामिल करने से पेट खराब भी हो सकते हैं और लीवर, किडनी और आंतों में जलन भी हो सकती है। यह एक खाने योग्य फूल है जिसका उपयोग प्राचीन काल से किया जाता रहा है।

केले के फूल

banana flowers

छोटे पतले-पतले स्ट्रैंड्स (धागों) के चारों ओर बैंगनी रंग की पंखुड़ियाँ वाला यह केले का फूल फाइबर, प्रोटीन और पोटेशियम, कैल्शियम, फास्फोरस, लोहा, तांबा और मैग्नीशियम जैसे खनिजों से भरपूर होता है। यह मुख्य रूप से टाइप-2 डायबिटीज में शुगर लेवल से लड़ने में मदद करता है। जैसा कि हम सभी जानते हैं, हमारे डाइट में शुगर के लेवल को कम करने से निश्चित रूप से हमारा साइज ज़ीरो हो जाता है, उस स्थिति में केले का फूल एक बहुत अच्छा विकल्प है। केले के फूलों का कच्चे सेवन करने से दांतों का रंग हल्का भूरा हो सकता है। भारत में बहुत से लोग इस फूल का इस्तेमाल करी, सूप, जूस और सलाद में करते हैं।

कद्दू के फूल

pumpkin flowers

यह एक ऐसा फूल है जिसकी पांचों पंखुड़ियों एकसाथ फ्यूज़ रहती हैं और यह फाइबर, कॉपर फोलेट और विटामिन ए जैसे विभिन्न पौष्टिक तत्वों का एक अच्छा स्रोत होता है जो आपके शरीर में ऊर्जा के स्तर को बेहतर बनाने में मदद करता है। कद्दू की सब्जी के स्वाद की तरह इसमें भी थोड़ी मिठास होती है। इसे वेजिटेबल रोल और सलाद के लिए रैप के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। सुबह-सुबह भोजन से पहले इन फूलों का सेवन करने से आपको अधिक लाभ मिलता है। जो भी सब्जियाँ और फूल जिनमें पानी का स्तर अधिक होता है, वे निश्चित रूप से वजन घटाने के लिए आपकी डाइटिंग में मदद करते हैं।

जैस्मीन या चमेली

Jasmine

केवल भारत में ही लोग चमेली के फूलों की ताजी सुगंध और सुंदरता को बिना उसे देखे अपने दिमाग में उसकी छवि रखकर ही जान जाते हैं। जब हम इसकी सुगंध की बात करते हैं तब इसका इस्तेमाल मुख्य रूप से सुगंध तैयार करने में और चाय में स्वाद जोड़ने के लिए किया जाता है। यह ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करता है, वजन घटाने में सहायता करता है और इम्यून सिस्टम को मजबूत भी बनाता है।

कैमोमाइल फूल

Chamomile

कैमोमाइल का प्यारा सा फूल शरीर को अंदर से डिटॉक्सिफाई करता है और फैट को कम करने में भी मदद करता है। यह एंटीऑक्सीडेंट के गुणों से भरपूर होता है। प्रत्येक भोजन से पहले इसे चाय के रूप में लेने से गैस्ट्रिक लेवल में भी मदद मिलती है। यह पूरे पेट को अंदरूनी ताकत प्रदान करता है और अल्सर, दस्त, मुंह के अल्सर, गैस, अपच और मतली के इलाज में मदद करता है।

मोरिंगा

Moringa

इसे आमतौर पर सहजन के फूल के नाम से जाना जाता है, यह फूल विटामिन ए और सी का अच्छा स्रोत होता है। यह एक सबसे अच्छा फूल है जो शरीर में आयरन की मात्रा को बढ़ाने में मदद करता है। यह एक बेहतरीन औषधीय फूल है जिसे कच्चा भी खाया जा सकता है। ज्यादातर लोग इसे सूप या करी जैसे कुछ में इस्तेमाल करना पसंद करते हैं। इसमें आयरन सप्लीमेंट की मौजूदगी के कारण यह एक बहुत अच्छा डाइट बनाए रखने में मदद करता है।

पपीता का फूल

papaya flowers

एक सबसे किफायती फूल जिसे हम स्थानीय व्यंजनों में देख पाते हैं और यह ए, सी और ई जैसे कई विटामिन का एक बेहतरीन स्रोत होता है। पपीते की तरह, इसके फूल भी चमकती त्वचा को बढ़ावा देने में मदद करते हैं। कई इलाकों में लोग इस फूल को पैन में हल्का सा भूनकर उसमें थोड़ा सा नमक डालकर साइड डिश के रूप में तैयार करते हैं। जब इसे डिटॉक्स के रूप में सुबह-सुबह चाय के रूप में लिया जाता है, तब यह फैट के साथ-साथ त्वचा की समस्याओं को भी कम करने में मदद करता है।

Nisha Rani
BA Hindi

Nisha Rani is a proficient translator and writer with a strong foundation in Hindi Literature, holding a BA degree in the subject. Her linguistic skills allow her to bridge the gap between languages, seamlessly translating content to reach diverse audiences. As an avid writer, she crafts compelling ... Read More

... Read More

FAQs

क्या होगा जब हम प्रतिदिन केवल फूल खाएंगे?

उचित निर्देशों का पालन करके प्रतिदिन फूलों का सेवन करने में कुछ भी गलत नहीं है। यह हमारे शरीर को डायबिटीज, अपच, गैस, मतली आदि जैसी विभिन्न समस्याओं से राहत दिलाने में मदद करता है और कुछ फूल हमारी त्वचा में चमक भी लाते हैं।

क्या कच्चे फूल खाना हमारे स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है?

जी हाँ, खाने योग्य फूल खाने में अच्छे होते हैं और वे बिना किसी परेशानी के आसानी से पोषक तत्वों की मात्रा को बढ़ावा देते हैं। परन्तु कुछ लोगों को अपने डाइट में पंखुड़ियों का सेवन करने से एलर्जी हो जाती है। इसलिए किसी भी तरह के फूलों को इस्तेमाल करने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर ले लें।

क्या स्टेमेन (पुंकेसर) हटाए बिना चाय के लिए फूलों को उबालने से कोई गंभीर समस्या पैदा हो सकती है?

जी हाँ, कुछ फूलों के स्टेमेन एलर्जी और माइग्रेन का कारण बन सकते हैं। कुछ फूलों के स्टेमेन में नशीली दवा जैसे पदार्थ हो सकते हैं। उबालने से पहले उस हिस्से को हटा देने से गंभीर समस्याओं के पैदा होने का खतरा हट जाता है।

क्या मौसमी फूल मौसमी फलों से ज्यादा फायदा देते हैं?

कुछ शोधकर्ताओं का मानना है कि मौसमी फूलों की तुलना में मौसमी फल खाने से ज्यादा स्वाद मिलता है। लेकिन एनर्जी देने के मामले में फलों और फूलों में कोई विशेष बड़ा अंतर नहीं होता है।

सब्जियाँ, फल या फूल में कौन सी सबसे अच्छी होती हैं?

शोधकर्ताओं ने पाया है कि उपरोक्त तीनों चीजें ऐसी आवश्यक सामग्रियाँ हैं जिन्हें हमें अपने दैनिक जीवन में अवश्य खाना चाहिए। लेकिन सभी को अच्छे स्तर पर सेवन करने से ही अच्छी ऊर्जा बनने में मदद मिलता है और इसमें से कोई भी एक खास नहीं है।

You might also like